आर्थिक

वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान रिफंड के रूप में 2.61 लाख करोड़ रुपये जारी किए गए हैं

वित्त वर्ष 2020-21 के लिए अनंतिम प्रत्यक्ष कर संग्रह में लगभग 5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी है शुद्ध