मोदी सरकार के इस मंत्री ने चार्टर्ड एकाउंटेंट्स CAs को पढ़ाया ईमानदारी का पाठ और जवाब में हुए सोशल मीडिया पर ट्रोल

icai annual function
दूसरों के साथ साझा करें

नयी दिल्ली:

06 फरवरी 2018 -चार्टर्ड एकाउंटेंट्स इंस्टिट्यूट के वार्षिक समारोह में मोदी सरकार के मंत्री, श्री पियूष गोयल जी को उस समय चार्टर्ड एकाउंटेंट्स की नाराजगी का सामना करना पढ़ा जब वो सोशल मीडिया के माद्यम से चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को सलाह देते नज़र आये

icai annual function

वैसे मोदी सरकार के ये मंत्री खुद भी चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और ऐसा पहली बार नहीं जब करप्शन और काले धन जैसे मुदो पर चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को सलाह दी गयी हो.

इससे पहले इंस्टिट्यूट के स्थापना दिवस के मौके पर मोदी जी ने खुद भी चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को कड़े शब्दों में समझाया था.

उन्होंने कहा

सभी चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को तय करना चाहिये कि इस देश को बदलने में हम पहल करेंगे, और कोई भी गलत कार्य नही होने देंगे

और साथ ही जोड़ा

टैक्स की चोरी यदि कोई करता है तो वह किसी गरीब को गरीब बनाये रखने में सहयोग देता है, ईमानदारी आसान रास्ता नही है, लेकिन यदि एक बार तय कर लें तो इस पर चलना संभव है:

https://twitter.com/PiyushGoyalOffc/status/960865022921596928

इनकी इसी बातों से और चार्टर्ड एकाउंटेंट्स को ईमानदारी का पाठ पढ़ाने से चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के बीच काफी नाराजगी देखी गई

इस पर दिल्ली के एक चार्टर्ड अकाउंटेंट मनीष मल्होत्रा ने लिखा ने लिखा

सभी सी॰ए॰ अगर तय कर भी ले फिर भी उनके पास कोई ऐसा माध्यम नहीं है की वो सरकारी विभागों के अफ़सर के ख़िलाफ़ शिकायत कर सकें। तनख़्वाह आप सरकारी नौकरों को देते हो ओर परिणाम की उम्मीद corruption के बोझ मे दबें सी॰ए॰ से। ईमानदारी से काम करने वालों सीए को अधिकार दो ओर परिणाम देखों।

 

एक दूसरे चार्टर्ड अकाउंटेंट प्रदीप तुलसियान ने लिखा

चार्टर्ड अकाउंटेंट राष्ट्र निर्माण में अहम् साझेदार है , कानून बनायें और सरकारी अफसरों को देर से काम करने के लिए जिम्मेदार बनायें

एक अन्य चार्टर्ड अकाउंटेंट ने लिखा

सर् मुझे लगता है कि इस ट्वीट में 2 ध्रुव है 1 तो यह कि शीर्ष नेतृत्व यह मानता है कि C A इस देश को नई दिशा देने में सक्षम है ।और इस सत्यता को स्वीकार करते हुए CA जगत को आव्हान किया जा रहा । दूसरा ध्रुव यह कि क्या यह ट्वीटCA समुदाय पर कटाक्ष है इस विषय पर परिणंजनक बहस होना चाहिए

 

चार्टर्ड अकाउंटेंट राजीव इनानी लिखतें हैं

 

You Might Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *