दूसरों के साथ साझा करें

वित्‍त मंत्री : पिछले वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही से समग्र विकास दर में देखी जा गिरावट की प्रवृत्ति अब पूरी तरह बदल चुकी है, इस तिमाही में वृद्धि दर में तेजी को विनिर्माण में तेज बढोतरी से सहायता मिली है जो पहली तिमाही के 1.2 प्रतिशत के मुकाबले दूसरी तिमाही के दौरान 7 प्रतिशत तक पहुंच गई

arun jaitley

 

केंद्रीय वित्‍त मंत्री श्री अरुण जेटली ने कहा है कि पिछले वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही से समग्र विकास दर में देखी जा गिरावट की प्रवृत्ति अब पूरी तरह बदल चुकी है। वित्‍त मंत्री वित्‍त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही के लिए वास्‍तविक जीडीपी विकास आंकड़े पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त कर रहे थे जो आज यहां सीएसओ द्वारा जारी किए गए। आंकड़ों के अनुसार, वास्‍तविक जीडीपी विकास का आकलन 6.3 प्रतिशत का लगाया गया है जो पहली तिमाही के 5.7 प्रतिशत के मुकाबले उल्‍लेखनीय बढोतरी को दर्शाता है। वास्‍तविक जीवीए वृद्धि में भी अच्‍छी बढोतरी दर्ज की गई है जो पहली तिमाही के 5.6 प्रतिशत के मुकाबले बढ़ कर 6.1 प्रतिशत तक जा पहुंची है। यह बढोतरी कृषि वृद्धि दर के पहली तिमाही के 2.3 प्रतिशत के मुकाबले दूसरी तिमाही में गिर कर 1.7 प्रतिशत पर आ जाने के बावजूद दर्ज की गई है।

केंद्रीय वित्‍त मंत्री श्री अरुण जेटली ने यह भी कहा कि इस तिमाही में वृद्धि दर में तेजी को विनिर्माण में तेज बढोतरी से सहायता मिली है जो पहली तिमाही के 1.2 प्रतिशत के मुकाबले दूसरी तिमाही के दौरान 7 प्रतिशत तक पहुंच गई। दूसरी तिमाही के दौरान, बिजली एवं अन्‍य यूटिलिटिज 7.6 प्रतिशत की मजबूत बढोतरी, व्‍यापार, ट्रांसपोर्टेशन एवं संचार में 9.9 प्रतिशत के इजाफे से भी इस बढोतरी में मदद मिली। कुल मिला कर, दूसरी तिमाही के दौरान, सेवा क्षेत्र ने 7.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाई।

वित्‍त मंत्री ने निष्‍कर्ष के रूप में कहा कि अब ऐसा प्रतीत होता है कि अर्थव्‍यवस्‍था इस वर्ष के प्रारंभ में आए रूपांतरकारी बदलावों के दौर का मजबूती से मुकाबला कर आगे बढ़ चुकी है और निकट भविष्‍य में इसमें स्‍थायी सुधार आना तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *