कब है जन्माष्टमी, खत्म हुआ कंफ्यूजन

कब है जन्माष्टमी, खत्म हुआ कंफ्यूजन

दिल्ली में कब है जन्माष्टमी, खत्म हुआ कंफ्यूजन भाद्रपद कष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को देखें तो ये 23 अगस्त को सुबह 8 बजकर 8 मिनट से 24 अगस्त को सुबह 8 बजकर 31 मिनट तक है। कृष्ण जन्माष्टमी को कृष्णाष्टमी, गोकुलाष्टमी,…

मई राशिफल

1: मेष- जोश एवं उत्साह बना रहेगा, परन्तु कार्यक्षेत्र में यदि सूझबूझ से काम करेंगे तो आर्थिक लाभ भी होगा। व्यय की स्थिति सामान्य रहेगी। बच्चे मौजमस्ती में रहेंगे। आपका धर्म-कर्म में व बुजुर्गों की सेवा में मन लगेगा। पार्टनर से भी…

Rashifal: राशिफल अप्रैल

Rashifal राशिफल अप्रैल : जानिये कैसा होगा अप्रैल माह 1: मेष- स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा रहेगा। पूरी निष्ठा से अपने कर्तव्यों का निर्वाह करें। कर्मशील रहेंगे तो लाभ-हानि की स्थिति सामान्य रहेगी। जीवनसाथी की राय से लाभ रहेगा। शत्रु कमजोर पड़ेंगे, लेकिन किसी…

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब पंजाब पाकिस्तान दरबार साहिब करतारपुर Kartarpur Sahib in Hindi

गुरुद्वारा करतारपुर साहिब पंजाब, पाकिस्तान  दरबार साहिब करतारपुर आइये जाने सिख धर्म में क्यों महत्वपूर्ण है करतारपुर? कहाँ स्थित है करतारपुर साहिब? गुरुद्वारा करतारपुर  का इतिहास करतारपुर कॉरिडोर सिख धर्म में क्यों महत्वपूर्ण है करतारपुर (Kartarpur) ?   सिख धर्म के संस्थापक…

माँ दुर्गा : Maa Durga जानिए क्या है दुर्गा पूजा (Durga Puja in Hindi)

माँ दुर्गा : Maa Durga जानिए क्या है दुर्गा पूजा (Durga Puja in Hindi)

क्या है दुर्गा पूजा? दुर्गा पूजा भारतीय त्योहारों में से एक महत्वपूर्ण पर्व है।  यह पर्व पुरे भारत में बहुत उत्साह के साथ मनाया जाता है लेकिन कलकत्ता में यह पर्व बहुत ही ज़ोर शोर से मनाया जाता है।  यह पर्व पुरे…

वसंत-पंचमी सरस्वती-पूजन का पर्यायरूप उत्सव है

वसंत-पंचमी, vasant panchami, saraswati puja, सरस्वती-पूजन वसंत-पंचमी सरस्वती-पूजन का पर्यायरूप उत्सव है ऋतुओं में वसंत-ऋतु सर्वश्रेष्ठ है। इसीलिए वसंत को ऋतुओं का राजा माना जाता है। इस ऋतु के प्रवेश करते ही सम्पूर्ण पृथ्वी वासंती आभा से खिल उठती है। वसंत ऋतु…

कब कैसा नववर्ष हमारा?

कब कैसा नववर्ष हमारा?

कब कैसा नववर्ष हमारा? -विनोद बंसल भारत व्रत पर्व त्यौहारों का देश है जिसका हर दिन कोई न कोई विशिष्टता लिए हुए होता है. कोई किसी महापुरुष का जन्मदिवस है तो कोई पुण्य तिथि. कोई फसल से सम्बंधित होता है तो कोई…

karma-भगवन कृष्ण कहते है, कर्म किये बिना कोई रह नहीं सकता bhagwat geeta in hindi

karma , कर्म Krishna on karma/ karm ( कर्म पर, भगवन कृष्ण क्या कहते है ) bhagwat geeta in hindi कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन । मा कर्मफलहेतुर्भुर्मा ते संगोऽस्त्वकर्मणि ॥ राजकुमार:नई दिल्ली“विचार” कुछ हमारे, कुछ तुम्हारे। आप तैयार हैं। आओ, तो ‘कर्म’ पर अपने विचारों को रखते हैं।…